जब से देखो है तेरी आंखों में झांक कर, को

जब से देखो है तेरी आंखों में झांक कर, कोई भी आईना अच्छा नहीं लगता

तेरी मोहब्बत में ऐसे हुए है दिवाने कि कोई तुम्हें देखे तो अच्छा नहीं लगता

उन्हें चाहना हमारी कमजोरी है, उन से कह

उन्हें चाहना हमारी कमजोरी है,

उन से कह न पाना हमारी मजबूरी है,

वो क्यू नै समझते हमारी खामोशी को,

क्या प्यार का इज़हार करना ज़रूरी है !

रब से आप की ख़ुशी मांगते हैं, दुआओं में

रब से आप की ख़ुशी मांगते हैं,

दुआओं में आपकी हंसी मांगते हैं,

सोचते हैं आपसे क्या मांगे

चलो आप से उमर भर कि मोहब्बत मांगते हैं !

मेरे दिल की बात सुन लो ज़रा साथी अपनी र

मेरे दिल की बात सुन लो ज़रा

साथी अपनी राहो का हमे चुन लो ज़रा

प्यार करेंगे तुम्हे हर कदम के साथ

यकीन नहीं हो तो तुम आज़मा लो ज़रा

मोहब्बत है कितनी ज्यादा तुमसे कहो तो स

मोहब्बत है कितनी ज्यादा तुमसे

कहो तो सारे जहाँ को बता दूँ

तू करदे हाँ एक बार

तेरे कदमो में आसमा बिछा दूँ