सफर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,

नजर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,

हजारों फूल देखे हैं इस गुलशन में मगर,

खुशबू वहीं तक है जहाँ तक तुम हो..

मुहब्बत का इम्तिहान आसान नहीं!

प्यार सिर्फ पाने का नाम नहीं!

मुद्दतें बीत जाती हैं किसी के इंतज़ार में!

ये सिर्फ पल-दो-पल का काम नहीं!

जब ख़याल आया तो खयाल भी उनका आया

जब आँखे बंद की ख्वाब भी उनका आया ,

सोचा याद कर लू किसी और को

मगर होठ खुले तो नाम भी उनका आया.

अपने होंठों पर सजाना चाहती हूँ

आ तुझे मैं गुनगुनाना चाहती हूँ



कोई आँसू तेरे बाजूओं पर गिराकर

बूँद को मोती बनाना चाहती हूँ



थक गयी मैं करते-करते याद तुझको

अब तुझे मैं याद आना चाहती हूँ



आख़री हिचकी तेरे ज़ानों पे आये

मौत भी मैं शायराना चाहती हूँ

तुम साथ हो तो दुनियां अपनी सी लगती है !



वरना सीने मे सांसे भी पराई सी लगती है !!

नजर" से दुर रहकर भी किसी की "सोच" मे रहना..♥

किसी के "पास" रहने का तरीका होतो ऐसा हो.

सिर्फ इतना ही कहा है, प्यार है तुमसे;

जज्बातों की कोई नुमाईश नहीं की,

प्यार के बदले सिर्फ प्यार मांगती हूँ,

रिश्ते की तो कोई गुज़ारिश ही नहीं की

लगा कर फूल होठो से उसने कहा चुपके से



अगर यहा कोई नहीं होता तो फूल की जगह तुम होते !!



एक उम्र है जो तेरे बगैर गुजारनी है



और एक लम्हा है जो तेरे बगैर गुज़रता नहीं

बस आखरी बार इस तरह मिल जाना,



मुझ को रख लेना या मुझ में रह जाना



Joke And Shayari app

Evening 12
Evening 11
Evening 10
Evening 9