सिर्फ याद बनकर न रह जाये प्यार मेरा कभ

सिर्फ याद बनकर न रह जाये प्यार मेरा

कभी कभी कुछ वक़्त के लिए आया करो

हमको ही क्यों देते हो प्यार का इलज़ाम

हमको ही क्यों देते हो प्यार का इलज़ाम

ज़रा खुद से भी पूछों इतने प्यारे क्यों हो

फिर न कीजे मेरी गुस्ताख़ निखाही की गि



फिर न कीजे मेरी गुस्ताख़ निखाही की गिला

देखिये आपने फिर प्यार से देखा मुझको

आज कल उन बच्चों को भी प्यार के ग़म लगे हो

आज कल उन बच्चों को भी प्यार के ग़म लगे होते हैं

जिन्हें नज़र के काले वाले टीके भी पूरे नहीं लगे होते हैं

कोयल कूकी मौज-ए सबा पाऊँ में घुंघरू बांध

कोयल कूकी मौज-ए सबा पाऊँ में घुंघरू बांध लिए

प्यार का नगमा छेड़ रहा है आज कोई शननई में

तूने प्यार भी अजीब चीज बनाई है या रब त

तूने प्यार भी अजीब चीज बनाई है या रब

तेरे ही सामने तेरा हे बंदह राटा है तो किसी और के लिए