♥है मुश्किल तेरे दिल पर अपनी दोस्ती की कहानी लिखना

शायद उतना ही जितना की बहते

हमारे दीवानेपन की भी कोई दवा नही

हमने तो वो भी सुन लिया जो उन्होने कहा भी नही
हम मानते है की अक्सर मुझे फुर्सत नहीं मिलती, मगर ए हसीना ये भी ज़रा सोचो, तुम्हें जब याद करते है तो सारा ज़माना भी भूल जाते है…. तुझ से न मिलने की कसम खा कर भी साथिया.. दुनिया की हर राह में तुझे बहुत ढूंढा बहुत मैंने… ..open
न थी जिसको मेरे प्यार की कदर, इत्तेफ़ाक़ से उसी को छह रहा था मैं, उसी दिए ने जलाया मेरे हाथों को, जिसको हवा से बचा रहा था मैं ..open
कोई तो दिल का भी सहारा होता है; ज़रूरी नहीं ज़िन्दगी अपने लिए ही प्यारी हो; ज़िन्दगी में कोई तो ज़िन्दगी से भी प्यारा होता है ..open

दोस्ती का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करू, आप भूल भी जाओ तो मे हर पल याद करू, खुदा ने बस इतना सिखाया हे मुझे कि खुद से पहले आपके लिए दुआ करू . . . ..open
♥गीले काग़ज़ की तरह ज़िंदगी अपनी कोई जलाता नही और बहाता भी नही इस कदर अकेले हो गये हैं आज कल कोई सताता भी नही और मनाता भी नही ..open
बेकाबू धडकनों को कुछ तो काबू में कर ए दिल नादान अभी तो सिर्फ पलकें झुकाई है ,कातिल मुस्कान तो अभी भी बाकी है…. जिनकी चाहत दिल मैं थी, जुदाई अब हम उनकी सहते हैं, ..open

♥फ़िज़ा मे महकती शाम हो तुम प्यार मे कहकता जाम हो तुम तुम्हे दिल मे छुपाए फिरते हे ए दोस्त मेरी ज़िंदगी का दूसरा नाम हो तुम ..open
♥गुम रहा जब तक के दुन में दुन रहा दिल के जाने का निहायत गम रहा मेरे रोने की हक़ीकत जिसमे थी एक मुद्दत तक वो कागज नाम रहा ..open

आप को पाकर अब खोना नहीं चाहते इतना खुश होकर अब रोना नहीं चाहते ये आलम है हमारा आप की जुदाई में आँखों में है नींद पर सोना नहीं चाहते

..open

भूलना चाहो तो भी याद हमारी आएगी, दिल की गहराई मे हमारी तस्वीर बस जाएगी. ढूढ़ने चले हो हमसे बेहतर दोस्त, तलाश हमसे शुरू होकर हम पे ही ख़त्म हो जाएगी. ..open
ज़िंदगी दी हे खुदा तूने अब जीने का हुनर दे, जो बक्शे हे पैर तो तोहफा-इ-सफर दे, ज़ुबा तो बक्श दी तूने मुझे पर, अब मेरी दुआओ में असर दे…. ..open
♥हर घड़ी सोचते हे भलाई तेरी सुन नही सकते बुराई तेरी हस्ते हस्ते रो पड़ती है आँखें मेरी इस तरह से सहते हे जुदाई तेरी ..open

♥इस कदर गम ने हमे लूटा हे आँसू तक ने हमारा साथ छोड़ा है सभी है बेदर्द यहाँ ज़माने में जिसे दिल मे बसाया उसी ने दिल तोड़ा हे ..open
कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है; कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है; पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से; तो प्यार जीने की वजह बन जाता है। ..open
♥इश्क़ कर देता हे बेकरार भर देता हे पत्थर के दिल में प्यार' हर एक को नही मिलती ज़िंदगी की ये बाहर क्यूकी इश्क़ का दूसरा नाम हे इंतेज़ार ..open

शिद्दत-इ-तालाब से उसने मुझे चाहा , पहेले अपनाया, और फिर छोड़ दिया, कितनी मेहनत की है उस हसीन शख्स ने मेरा ये पाक दिल दुखने के लिए ..open
फुर्सत नहीं उन्हें हमसे कुछ बातें करने की, इसलिए अब हम हर वक़्त खामोश रहते हैं ..open
♥हर तरफ यादो का शमा हे तेरा प्यार आज भी मेरे दिल मे जवा हे और तो सब कुछ मिल गया मुझे, ज़िंदगी में मगर तेरे प्यार को आज भी तरसे ये जिस्म और जाँ है ..open

उतर के देख मेरी चाहत की गहराई में ! सोचना मेरे बारे में रात की तन्हाई में ! अगर हो जाए मेरी चाहत का एहसास तुम्हे ! तो मिलेगा मेरा अक्स तुम्हे अपनी ही परछाई में ..open
♥फास्लो से इंतेज़ार बड़ा करता हे इंतेज़ार से प्यार ना बड़ा करता हे सारी ज़िंदगी खुदा से सजदा करो तब जा के तुम्हारे जैसा यार मिला करता हे ..open

अपनी राय अवश्य दे X