मुहब्बत की गिनती दो से शुरू होती है

और दो पर ख़तम होती है

अगर एक कम हो जाये तो पाओ के नीचे से ज़मीन निकल जाती है

और अगर एक ज्यादा हो जाये तो

दिल से यकीन निकल जाता है



मेरी जात एक ऐसा फूल हुई जिससे खुशबु तो सब ने चाहा मगर पानी देने का ख्याल किसी को ना आया ..open
क्यो किसी से इतना प्यार हो जाता है, एक पल का इंतज़ार भी दुश्वार हो जाता है, लगने लगते है अपने भी पराये , और एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है… ..open
सब्र एक ऐसी सवारी है जो अपने सवार को कभी गिरने नहीं देती ना किसी के कदमों में और ना ही किसी की नजरों में ..open

तुझे देखु तो सारा जहाँ रंगीन नज़र आता है, तेरे बिना दिल को चेन किसको आता है, तुम ही हो मेरे दिल की धड़कन, तेरे बिना यह संसार आवारा नज़र आता है… ..open
मुहब्बत की गिनती दो से शुरू होती है और दो पर ख़तम होती है अगर एक कम हो जाये तो पाओ के नीचे से ज़मीन निकल जाती है और अगर एक ज्यादा हो जाये तो दिल से यकीन निकल जाता है ..open
वो रात दर्द और सितम की रात होगी, जिस रात रुखसत उनकी बारात होगी, उठ जाता हु मैं ये सोचकर नींद से अक्सर के, एक गैर की बाहों में मेरी सारी कायनात होगी… ..open

अरबों की गिनती तो हमें आती नहीं, पर दिल का एक ख़याल आपसे कह दू. अगर पानी की एक बून्द ख़ुशी बनती हैं तो, तोहफे में आपको सारा समुंदर ही दे दू ..open
सुबह होती नही शाम ढलती नही, नज़ाने क्या खूबी है आप मे के, आप को यादकिए बिना, खुशी मिलती नही… ..open
किसी इंसान की खूबी देखो तो इसे बयाँ करो लेकिन अगर खामी मिल जाये तो वहां तुम्हारी खूबी का इम्तेहान है ..open

बहुत सी बातें ऐसी होती है के इन के जवाब में हम सिर्फ ठीक है के इलावा कुछ नहीं कहे सकते हाला के वो किसी भी तरह से ठीक नहीं होते ..open
नरम सिल लोग बेवकूफ नहीं होते वो जानते है के लोग इन के साथ क्या खेल खेल रहे है लेकिन फिर भी वो नजर अंदाज़ करते है क्यूँ के इन के पास एक खुबसूरत दिल होता है ..open
हकीकत में फ़ायदा वही लोग उठायेंगे जो दुनिया में ही ज़ाग गए है क्यूँ के क़यामत के दिन सभी की आँखें खुल जाएगी ..open

तुझे पलकों पे बिठा के रखू मैं, करके हद से जादा प्यार सीने से लगा के रखू मैं, बेहद कीमती हो तुम मेरे लिए तुम्हे दिल में छुप के अपनी जान बना के रखू मैं. ..open
दुनिया में कोई किसी के लिए कुछ नहीं करता मरने वाले के साथ हर कोई नहीं मरता अरे… मरने की बात तो दूर रही यहाँ तो जिंदगी है फिर भी कोई याद नहीं करता.. ..open
दिल पे क्या गुज़री वो अनजान क्या जाने, प्यार किसे कहते है वो नादान क्या जाने, हवा के साथ उड़ गया घर इस परिंदे का, कैसे बना था घोसला वो तूफान क्या जाने… ..open

ये लडकियों के बाल , लडको को फ़साने के जाल , चूस लेती है खून जिस्म का सारा , इसी लिए होते है इनके होठ लाल…. ..open
बिन बुलाये किसी के घर जाया नहीं करते, महफिल में इश्क बहाया नहीं करते, आज फिर उन्ही के आने का करार है , वर्ना किसी के इंतजार में राहे यूँ सजाया नहीं करते… ..open
तुम्हारे मुस्कुराने पे मैं हर दर्द भूल जाता हूँ. मिले जो आंसू मुझे जमाने से मैं उनको पी जाता हूँ. पता नहीं क्या बात हैं तेरे इस चेहरे में इसे देखता हु तो मैं अपना चेहरा भूल जाता हूँ ..open

आँखो की चमक पलकों की शान हो तुम, चेहरे की हँसी लबों की मुस्कान हो तुम, धड़कता है दिल बस तुम्हारी आरज़ू मे, फिर कैसे ना कहूँ मेरी जान हो तुम.. I Love you jaan ..open
दीवानगी मे कुछ एसा कर जाएंगे, महोब्बत की सारी हदे पार कर जाएंगे, वादा है तुमसे दिल बनकर तुम धड़कोगे, और सांस बनकर हम आएँगे… ..open

अपनी राय अवश्य दे X