पता नहीं सभी लोग मेरी इतनी रिस्पेक्ट क्यों करते हैं?

मै जब भी उनको SMS करती हूँ,

वो सर निचे झुका के मेरा मेसेज पढ़ते हैं,

हाँ, बिलकुल तुम्हारी तरह ही…

“उफ़ मेरे क्रेजी फैन”

चलो सो जाओ

Good Night….!!@
तेरी साँसों में बिखर जाऊं तो अच्छा है, बन के रूह तेरे जिस्म मे उतार जाऊं तो अच्छा है, किसी रात तेरी गोद में सर रख कर सो जाऊं, उस रात की कभी सुबह ना हो तो अच्छा है!! ..open
पता नहीं सभी लोग मेरी इतनी रिस्पेक्ट क्यों करते हैं? मै जब भी उनको SMS करती हूँ, वो सर निचे झुका के मेरा मेसेज पढ़ते हैं, हाँ, बिलकुल तुम्हारी तरह ही… “उफ़ मेरे क्रेजी फैन” चलो सो जाओ Good Night….!!@ ..open
अंधेरी सड़क सुनसान कब्रिस्तान, सूनी हवेली काला आसमान, बिजली कडकी आया तुफान, रात हो गयी सो जा शैतान… गुड नाईट..!!@ ..open

सोचा ना था कभी ऐसी दोस्ती होगी, मंज़िलो के साथ राहें भी हसीन होंगी, जन्नत की गलियो के ख्वाब क्यू देखु, अगर हम सारे दोस्त साथ होंगे तो नर्क मे भी मस्ती होगी!! ***Gud Night Friends*** ..open
इस चाँद को कभी यूँ भी देखो कि जाने कब किसी झरोखे से ये इक ग़ज़ल या किसी खिड़की से इक तस्वीर बन जाता है और गुस्ताख़ नज़र उठे तो खता .. ..open
कितनी जल्दी से मुलाकात गुजर जाती है, प्यास बुझती नही बरसात गुजर जाती है, अपनी यादों से कहो की यूँ ना सताया करे, नींद आती नही और रात गुजर जाती है!! ..open

अंग्रेजी में Good Night हिन्दी में “शुभ रात्री” कन्नड में “यारंडी” उर्दू में “शब्बा खैर” तेलगू में “पदनकोपो” और अपन की स्टाईल में ..open
हो चुकी रात अब सो भी जाइए जो हैं दिल के करीब उनके ख्यालों में खो जाइए कर रहा होगा कोई इंतज़ार आपका ख़्वाबों में ही सही उनसे मिल तो आइये ..open
हाल कैसा है जनाब का, क्या ख्याल है आपका, हम तो सो गये हो हो हो… तुम भी सो जाओ हा हा हा… ..open

तारो की छाओ में एक पालकी बनाई है, ये पालकी मैने बड़े प्यार से सजाई है, आए हवा ज़रा मंद मंद चलना, मेरे दोस्त को बड़ी प्यारी नींद आई है!! ***Good Ni8 Dost*** ..open
ना दिल में आता हु, ना दिमाग में आता हु, अभी सोता हु, कल फिर ऑनलाइन आता हु… गुड नाईट…!!@ ..open
बहुत खूबसूरत होते है, वो पल जब कोई दोस्त साथ होते है, लेकिन उससे भी खूबसूरत होते है, वो लम्हे जब दूर रहकर भी वो हमे याद करते है!! ..open

आप हमारे सबसे अच्छे दोस्त हैं, यह दिल से कहते हैं हम, इसीलिए आपको रोज़ याद करतें हैं हम, बाकी कुछ कहें या ना कहें, रोज़ रात को आप को “गुड नाइट” कहते हैं हम!! ..open
ऐसा लगता है कुछ होने जा रहा है, कोई मीठी सपनो मे खोने जा रहा है, धीमी कर दे अपनी रोशनी आए चाँद, मेरा कोई अपना सोने जा रहा हैं!! ..open
दिन भर की थकान अब मिटा लीजिए, हो चुकी रात रोशनी बुझा लीजिए, एक खूबसूरत ख्वाब राह देख रहा है, बस पलकों का परदा गिरा लीजिए!! ..open

ऐसा लगता है कुछ होने जा रहा है, कोई मीठे सपनो मे खोने जा रहा है, धीमी कर दे अपनी रोशनी ऐ चाँद, मेरा कोई अपना सोने जा रहा हैं! ..open
जहां दोस्ती वहाँ प्यार, जहां प्यार वहाँ इश्क, जहां इश्क वहाँ रिश्क, जहां रिश्क वहाँ दर्द, जहां दर्द वहा जंडु बाम, जंडु बाम लगाओ और चुपचाप सो जाओ… Good Night… ..open
अगर रात को कोई तुम्हारे बिस्तर पे आये, तुम्हें हैरान करें, तुम्हारे जिस्म से खेले, तुम्हे चुमे, तो ज्यादा रोमेन्टीक मत हो जाना, मच्छर अगरबत्ती जलाना और सो जाना… Good Night. शुभरात्री… ..open

ऐ चाँद मेरे दोस्त को एक तोहफा देना, तारो की महफ़िल संग रोशनी देना, छुपा लेना अंधेरे को, हर रात के बाद एक खूबसूरत सवेरा देना!! ..open
रात है काफ़ी, ठंडी हवा चल रही है, याद में आपकी किसी की मुस्कान खिल रही है, उनके सपनो की दुनिया में आप खो जाओ, आँख करो बंद ओर आराम से सो जाओ!! ..open

Did you find this page helpful? X